Wednesday, September 16, 2009

अगर अपने मोबाइल में दर्ज नम्बर खोना नहीं चाहते तो इसे ज़रूर पढ़ें

अगर आपका फ़ोन चोरी हो जाए, खो जाए या पानी में गिर जाए तो जो सबसे पहला ख़्याल आपको आता है, वो है- अरे मरे, गए सारे नम्बर्स। फिर शुरु होती है क़वायद वो सारे नम्बर्स इकट्ठा करने की। फिर भी सारे मिलते नहीं है। हां, अगर आपने अपने कम्प्यूटर पर बैकअप लिया है तो भी इस बात की संभावना है कि वो काफ़ी दिनों से अपडेट नहीं हुआ होगा। इसलिए 100-150 नम्बर फिर भी नहीं मिलेंगे।
आपकी इन सारी परेशानियों का एक जादुई इलाज है। एक वेबसाइट है- ज़ायब.कॉम। बस आपके फ़ोन में जीपीआरएस होना चाहिए। साइट पर जाइए, अकाउन्ट बनाइये, फ़ोन चुनिए, वो जो सेटिंग्स भेजेगा आपके फ़ोन पर, उसे सेव कीजिए और बस कर दीजिए सिंक- कुछ ही सेकेन्ड्स में सारे नम्बर्स का बैकअप ज़ायब पर। इतना ही आसान। उसके बाद दो-चार दिन में जब भी वक़्त मिले सिंक कर लीजिए- उन दो-चार दिनों में जो भी नए नम्बर आपकी फ़ोनबुक में जुड़े होंगे, ज़ायब पर सेव हो जाएंगे। ये सब जीपीआरएस पर हो रहा है तो सिंक के लिए आपको किसी कंप्यूटर के पास होने की भी ज़रूरत नहीं है।
अब ख़ुदा न खास्ता, आपके फ़ोन के साथ कोई भी दुर्घटना होती है, लेकिन आपके नम्बर हमेशा सेव रहेंगे। आप फ़ोन बदलेंगे तो भी आपको ज़ायब को सिर्फ़ ये बताना है कि भई मैंने नया फ़ोन लिया है, वो वही सेटिंग्स आपको नए हैंडसेट पर भेज देगा और लो सारे नम्बर नए फ़ोन में आ गए।
हां, सबसे ज़रूरी बात- इसके लिए आपको चुकाने होंगे सिर्फ़ 1000 रू. सालाना। क्या कहा, महंगा है। सच है, हम हिन्दुस्तानी कभी नहीं बदलेंगे।
मज़ाक कर रहा था, सेवा बिल्कुल मुफ़्त है (मुफ़्त में भी बिल्कुल लगाना पड़ रहा है, आपकी तसल्ली के लिए)। अब तो लेंगे न बैकअप।
कोई सवाल हो, इससे जुड़ा तो मुझे मेल कर सकते हैं- laughingprabuddha@gmail.com (कम्पनी मेरी नहीं है भइया, जानकारी अच्छी है इसलिए सहयोग कर रहा हूं ! ! ! पिछले डेढ़ साल में इसने कई बार मेरी जान बचाई है।)

12 comments:

  1. सचमुच उपयोगी जानकारी !!

    ReplyDelete
  2. करते हैं अब इसका उपयोग!!

    ReplyDelete
  3. ये तो बहुत काम की जानकारी दी आपने.......
    एक बार उपयोग करके देखते हैं!!!

    ReplyDelete
  4. जानकारी अच्छी है

    लेकिन ये ज़्यादा फोन माडल को सपोर्ट नही करता है....

    ReplyDelete
  5. इस लाजवाब जानकारी के लिए कोटिश धन्यवाद....
    नीरज

    ReplyDelete
  6. बहुत काम की जानकारी...
    thnx

    ReplyDelete
  7. ओहो तो अब पहले इसके लिये GPRS वाला फ़ोन खरीदना पड़ेगा, फ़िर इस सुविधा का इस्तेमाल करेंगे।

    ReplyDelete
  8. @काशिफ़-आप ज़ायब को मेल कर अपना फ़ोन मॉडल बता सकते हैं।

    ReplyDelete
  9. अच्छी जानकारी!

    ReplyDelete
  10. अच्छी प्रस्तुति....बहुत बहुत बधाई...
    मैनें अपने सभी ब्लागों जैसे ‘मेरी ग़ज़ल’,‘मेरे गीत’ और ‘रोमांटिक रचनाएं’ को एक ही ब्लाग "मेरी ग़ज़लें,मेरे गीत/प्रसन्नवदन चतुर्वेदी"में पिरो दिया है।
    आप का स्वागत है...

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणी से ये जानने में सहूलियत होगी कि जो लिखा गया वो कहां सही है और कहां ग़लत। इसी बहाने कोई नया फ़लसफ़ा, कोई नई बात निकल जाए तो क्या कहने !